लाडली बहना योजना 2023 एमपी | Ladli Behna Yojana: आवेदन फॉर्म, पात्रता सम्पूर्ण जानकारी हिंदी

MP Ladli Behna Yojana 2023 Application Form | लाडली बहना योजना 2023 पात्रता, रजिस्ट्रेशन फॉर्म | एमपी लाडली बहना योजना 2023 सम्पूर्ण जानकारी | लाडली बहना योजना मध्य प्रदेश | लाडली बहना योजना | MP Ladli Behna Yojana 2023 Guidelines | मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना 2023 

मध्य प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का जन्मदिन इसी महीने था। वह 64 साल के हो गए हैं। इस दिन को यादगार बनाने के लिए मुख्यमंत्री चौहानजी ने रविवार को दोपहर 1 बजे लाड़ली बहना योजना का शुभारंभ किया हैं. इस योजना के तहत पूरे राज्य की लगभग एक करोड़ महिलाओं को हर महीने 1000/- रुपये देनेकी योजना है। यह धनराशि सीधे महिलाओं के बैंक खाते में जमा की जाएगी।

सीएम ने खुद अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस खबर को शेयर किया है, जिसमें वह बता रहे हैं कि 'मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना' का लाभ लेने के लिए बहनों को कहीं भटकने की जरूरत नहीं होगी. हर गांव व वार्ड में कर्मचारियों की टीम आएगी और वहीं बैठकर आपका फॉर्म भरा जाएगा। सीएम ने कहा, 'इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको किसी आय प्रमाण पत्र की भी जरूरत नहीं होगी. हमने इस योजना को राज्य की हर बहन तक पहुंचाने के लिए शुरू किया है।

राज्य में महिलाओं की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने और उन्हें सम्पूर्ण सशक्त बनाने के लिए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महिलाओं के लिए मध्य प्रदेश लाड़ली बहना योजना 2023 शुरू करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को नर्मदा जयंती के अवसर पर सीहोर जिले के गौरव दिवस एवं नर्मदापुरम गौरव दिवस कार्यक्रम में मध्य प्रदेश लाडली बहना योजना के शुभारंभ की घोषणा की है. मध्य प्रदेश में लाड़ली लक्ष्मी योजना की तरह मध्य प्रदेश लाड़ली बहना योजना संचालित करने की योजना है।

लाड़ली बहना योजना फॉर्म के तहत राज्य के निम्न मध्यम वर्ग और गरीब महिलाओं को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत राज्य की बहनों को सरकार द्वारा प्रति वर्ष 12000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यदि आप मध्य प्रदेश लाड़ली बहना योजना 2023 से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको इस लेख को अंत तक विस्तार से पढ़ना होगा।

{tocify} $title={Table of Contents}

एमपी लाडली बहना योजना 2023 सम्पूर्ण जानकारी हिंदी 

लाडली बहना योजना: मध्य प्रदेश सरकार ने मार्च 2023 में लाडली बहना योजना नाम से एक नई योजना शुरू की है। लाडली बहना योजना विशेष रूप से मध्य प्रदेश में लड़कियों और महिलाओं के जीवन को सक्षम बनाने वाली एकमात्र सरकारी योजना है। राज्य में गरीब लड़कियों और महिलाओं को "लाड़ली बहना योजना" के माध्यम से आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनाने में मदद करने की मुख्यमंत्री की योजना है। सरकार इस योजना पर अगले 5 साल में 60 हजार करोड़ रुपए खर्च करने का ऐलान किया है।

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना
मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना 

नर्मदा जयंती के अवसर पर, मध्य प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य की गरीब बहनों के लिए एमपी लाडली बहना योजना 2023 शुरू करने की घोषणा की है। इस योजना के तहत, राज्य सरकार राज्य की निम्न मध्यम वर्ग की बहनों और गरीब महिलाओं को मासिक वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। यह 1000 रुपये प्रति माह की आर्थिक सहायता गरीब बहनों को दी जाएगी। यानी इस तरह 1 साल में रु. इस योजना के तहत महिलाओं को 12000 रुपये वितरित किए जाएंगे। जिसे सीधे लाभार्थी बहनों के बैंक खाते में ट्रांसफर किया जाएगा।

मध्य प्रदेश लाडली बहना योजना का उद्देश्य निम्न वर्ग की महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त और आत्मनिर्भर बनाना है। यह योजना राज्य में एमपी लाड़ली लक्ष्मी योजना की तरह चलाई जाएगी। एमपी लाड़ली बहना योजना के माध्यम से राज्य की सभी निम्न वर्ग की बहनों को लाभ दिया जाएगा। यह योजना प्रदेश की सभी महिलाओं को सक्षम एवं स्वावलम्बी बनाने में कारगर रहेगी।

फ्री सिलाई मशीन योजना 

लाडली बहना योजना एमपी 2023 Highlights 

योजना लाडली बहना योजना
व्दारा शुरू माननीय मुख्यमंत्री
अधिकृत वेबसाईट -----
लाभार्थी मध्य प्रदेश राज्य की निम्न मध्यमवर्गीय और गरीब महिलाएं
योजना की शुरुवात 2023
उद्देश्य राज्य की महिलाओं को सशक्त और सक्षम करना
विभाग मध्य प्रदेश शासन
आर्थिक मदत 1000/- रुपये प्रतिमहा
आवेदन प्रक्रिया अभी शिबिर के मध्यम से
श्रेणी मध्य प्रदेश योजना
वर्ष 2023


मुख्यमंत्री युवा अन्नदूत योजना 

लाडली बहना योजना 2023 अंतर्गत आय प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं 

लाडली वाहन योजना के तहत पात्रता को लेकर हाल ही में गाइडलाइन जारी की गई थी, जिसमें कहा गया था कि लाड़ली बहन योजना के तहत सालाना आय ढाई लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा आवेदक के पास 5 एकड़ से अधिक जमीन नहीं होनी चाहिए। लेकिन अब विदिशा के कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने कहा है कि लाडली बहना योजना के तहत आवेदन करने के लिए आय प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं है. केवल आधार कार्ड और पूर्ण पहचान पत्र के माध्यम से ही दस्तावेजों की आपूर्ति की जा सकती है। महिला, लाडली बहना योजना 2023 के तहत लाभार्थी बिना आय प्रमाण और निवासी प्रमाण पत्र के आवेदन कर सकते हैं। विदिशा कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने सोशल मीडिया के जरिए इसकी पुष्टि की है।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इस योजना के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाडली बहना योजना के दिशा-निर्देश जारी करते हुए कहा कि प्रदेश में निम्न एवं मध्यम वर्गीय परिवारों की बहनों को एक हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन दी जायेगी. जिनके पास 5 एकड़ से कम जमीन है। साथ ही इस योजना का लाभ पाने के लिए बहनों के परिवार की वार्षिक आय ढाई लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। मध्यप्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में पात्रता हेतु इन दो शर्तों के साथ दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में पात्रता के लिए गाइडलाइन घोषित करने के बाद अब शहरी क्षेत्र की बहनों को भी शिवराज सरकार की गाइडलाइन का इंतजार है. लाड़ली बहना योजना का विशेष पहलू यह है कि इस योजना से प्रदेश की लगभग एक करोड़ बहनें प्रतिवर्ष लाभान्वित होंगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार लाड़ली बहना योजना के तहत महिलाओं के फार्म 5 मार्च से भरे जायेंगे.

पोषण अभियान 

25 मार्च से भरे जाएंगे फॉर्म, मध्य प्रदेश में लाडली बहना योजना का शुभारंभ 

प्रदेश की सभी महिलाओं को बड़ी सौगात देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार 05 मार्च 2023 को भोपाल के जंबोरी मैदान में लाडली बहना योजना का शुभारंभ किया है. विवाहित, विधवा, परित्यक्ता एवं परित्यक्त महिलाओं को लाड़ली बहना योजना के माध्यम से 1000 रुपये प्रतिमाह की आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी। इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए 25 मार्च से 30 अप्रैल तक ग्राम पंचायत, वार्ड एवं आंगनबाड़ी केंद्रों में शिविर लगाकर आवेदन भरे जाएंगे। उसके बाद 10 जून 2023 से बहनों के बैंक खातों में राशि का वितरण शुरू किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा हर महीने की 10 तारीख को महिलाओं के बैंक खाते में 1000 रुपये भेजे जाएंगे।

यह योजना लाड़ली लक्ष्मी योजना के समान है। यह लाडली लक्ष्मी योजना सभी पात्र उम्मीदवारों को समान तरीके से वितरित की जाएगी। सरकार ने एमपी लाडली बहना योजना के प्रत्येक लाभार्थी को 1000 रुपये प्रति माह देने की घोषणा की है। इसलिए, राज्य की महिलाओं को कुल रु 12 हजार। हर साल। इस योजना का निश्चित रूप से लड़कियों और महिलाओं के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

लाड़ली बहना योजना 2023 की आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी

मध्य प्रदेश सरकार की लाड़ली बहना योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया कल यानी 5 मार्च 2023 से शुरू होगी। लाड़ली बहना योजना के तहत आवेदन कल से प्रदेश के सभी जिलों में भरे जाएंगे। इसके बाद जून माह में लाडली बहना योजना की महिला हितग्राहियों के बैंक खातों में आर्थिक सहायता की राशि प्रवाहित होने लगेगी। पात्र बहनें शिविर में जाकर इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदन पत्र भर सकती हैं। आवेदन पत्र भरने के लिए महिलाओं को कहीं जाने की जरूरत नहीं है। सरकार ने इस योजना के लिए 8000 करोड़ रुपये के बजट को भी मंजूरी दी है। इसके जरिए सरकार एक करोड़ महिलाओं को 1000 रुपए प्रति माह देगी।

मध्य प्रदेश लाड़ली बहना योजना के पीछे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का मुख्य उद्देश्य राज्य की बहनों को आर्थिक सहायता प्रदान कर आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना है। इस योजना के तहत बहनों को प्रति माह 1000 रुपये कुल 12000 रुपये प्रति वर्ष मिलेंगे। यह राशि लाभार्थी महिलाओं को उनके आवश्यक खर्चों को पूरा करने में मदद करेगी।

नई एकीकृत खाद्य सुरक्षा योजना 

लाड़ली बहना योजना का लाभ 60 वर्ष से अधिक आयु की गैर पेंशनभोगी महिलाओं को भी मिले

मुख्यमंत्रीजी ने कहा कि पात्र हितग्राही इस योजना का लाभ लेने के लिए संकल्पबद्ध हों। फर्जी लाभार्थियों इस से न जुड़ें। योजना को अंतिम रूप देने के लिए अब तक की गई कार्रवाई को ध्यान में रखा गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महिला एवं बाल विकास विभाग की योजनाओं की समीक्षा के लिये बैठक की. इसमें मुख्यमंत्री ने लाडली बहना योजना को लेकर अधिकारियों को निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना बहनों को आर्थिक रूप से सशक्त करेगी और मजबूत महिलाएं परिवार, समाज, राज्य और देश को सशक्त करेंगी। महिलाओं के स्वास्थ्य और पोषण में सुधार होगा। मुख्यमंत्री ने योजना के क्रियान्वयन और नियमों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बैगा, भारिया और सहरिया आदिवासियों के लिए खाद्यान्न अनुदान योजना पहले से ही चल रही है. इससे उनके स्वास्थ्य और पोषण की स्थिति में सुधार हुआ है। लाड़ली बहना योजना का भी यही असर होगा। उन्होंने कहा कि बेगा, भारिया और सहरिया जनजाति की बहनों को इस लाड़ली बहना योजना का लाभ अवश्य मिलना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पात्र हितग्राही इस योजना का लाभ लेने के लिए संकल्पबद्ध होने चाहिए। फर्जी लाभार्थि इस में न जुड़ें। योजना को अंतिम रूप देने के लिए अब तक की गई कार्रवाई को ध्यान में रखा गया। उन्होंने कहा कि 60 वर्ष से अधिक आयु की जिन महिलाओं को पेंशन नहीं मिल रही है, उन्हें भी योजना का लाभ मिलना चाहिए। इस योजना के फॉर्म भरने की शुरुआत 5 मार्च से होनी चाहिए। प्रदेश के 51 हजार 455 राजस्व ग्रामों से फार्म भरे जायेंगे. इस कार्यक्रम में पंचायत सचिव, जनप्रतिनिधि व कार्यकर्ता सहयोग करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना में ऑफलाइन भरे जाने वाले आवेदन बाद में ऑनलाइन ही किए जाएं। उन्होंने आवेदन के प्रारूप पर चर्चा की और आवश्यक निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आवेदन को यथासंभव सरल बनाया जाए। शिविर लगा कर आवेदन जमा करना चाहिए। इसके साथ ही प्रदेश में हर माह की 10 तारीख को लाडली बहन योजना की राशि बहनों के खाते में जमा की जाएगी।

मध्य प्रदेश सरकार अगले पांच साल में लाडली बहना योजना पर 61 हजार करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है

  • लाड़ली बहना योजना पर राज्य सरकार अगले पांच साल में 61 हजार 890 करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है, जो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की प्राथमिकता है। महिला एवं बाल विकास विभाग ने इसका खाका निकाल लिया है।
  • इस योजना पर पहले साल 10 हजार 166 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। सरकार ने वित्तीय वर्ष 2023-24 के बजट में इस योजना के लिए 8 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। इस योजना का औपचारिक उद्घाटन 5 मार्च को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जन्मदिन किया गया। यहां राज्य स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें सवा लाख महिलाओं को आमंत्रित किया गया।
  • विभाग ने अनुमान लगाया है कि पांच साल में इस योजना पर कितना खर्च होगा। पहले साल में खर्च होने वाले राशी में महिलाओं की सभाओं और प्रचार-प्रसार के पैसे भी शामिल हैं. इसके लिए करीब 150 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। हालांकि दूसरे साल यह राशि अभियान, सम्मेलनों पर खर्च नहीं की जाएगी, लेकिन महिलाओं की संख्या बढ़ने पर यह राशि बढ़ेगी। विभाग का अनुमान है कि हर साल महिलाओं की संख्या में साढ़े तीन लाख की बढ़ोतरी होगी।

लाड़ली बहना योजना 2023 को जून 2023 से लागू किया जाएगा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा शुरू की गई लाड़ली बहना योजना के तहत राज्य की महिलाओं को लाभान्वित करने के लिए 8 मार्च 2023 से आवेदन जमा किए जाएंगे। फिर जून 2023 में मध्य प्रदेश के सभी जिलों में लाड़ली बहना योजना लागू की जाएगी। राज्य के सभी जिलों में इस योजना के लागू होने के बाद एक करोड़ महिलाओं को प्रति माह 1000 रुपये की सहायता दी जाएगी। ताकि वह अपना जीवन स्वतंत्र रूप से जी सके। मध्य प्रदेश सरकार का उद्देश्य इस योजना के माध्यम से वित्तीय सहायता प्रदान करके महिलाओं को सशक्त बनाना है। क्योंकि राज्य में बहनें मजबूत होंगी तो परिवार भी मजबूत होगा। इससे समाज और राज्य दोनों सशक्त होंगे।

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस योजना में आवेदन ऑफलाइन मोड में भरा जाएगा। इसके बाद उन्हें ऑनलाइन किया जाएगा। आवेदन के प्रारूप पर चर्चा कर आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए गए हैं। इसके अलावा, यह निर्णय लिया गया कि आवेदन पत्र यथासंभव सरल होना चाहिए। लाड़ली बहन योजना के तहत सरकार द्वारा लाभार्थी बहनों के खाते में प्रत्येक माह की 10 तारीख को एक बार में राशि प्रेषित की जाएगी।

राज्य पर 60,000 करोड़ का बोझ पड़ेगा

मध्य प्रदेश में कम से कम एक करोड़ बहनों को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा लाडली बहना योजना के तहत आर्थिक सहायता के रूप में 1000 रुपये मासिक पेंशन दी जाएगी। इस वित्तीय सहायता के माध्यम से, सरकार राज्य में बहनों को प्रति माह 1000 करोड़ रुपये वितरित करेगी। इससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार हो सकता है। इसलिए सरकार को हर साल 12 हजार करोड़ रुपए का बोझ उठाना पड़ेगा। जिसके मुताबिक मध्य प्रदेश सरकार की लाड़ली बहना योजना के तहत यह आंकड़ा 5 साल में 60 हजार करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा। 

एमपी लाड़ली बहना योजना की विशेषताएं

  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा एमपी लाडली बहना योजना 2023 के शुभारंभ की घोषणा की गई है।
  • यह योजना राज्य के मध्यम वर्ग और गरीब महिलाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।
  • इस योजना के तहत, राज्य सरकार हजार रुपये प्रदान करेगी। रु. 1000/- की आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • मध्य प्रदेश लाडली बहना योजना के तहत महिलाओं को 12000/- रुपये प्रति वर्ष की आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • मध्यप्रदेश लाडली बहना योजना को लाड़ली लक्ष्मी योजना की तरह लागू किया जायेगा।
  • सरकार के अनुमान के मुताबिक 5 साल में इस योजना के तहत 60,000 करोड़ रुपए आवंटित किए जाएंगे।
  • इस योजना का लाभ निम्न वर्ग की सभी बहनों को दिया जाएगा।
  • यह योजना केवल मध्य प्रदेश में महिलाओं के लिए शुरू की जा रही है।
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग और सामान्य वर्ग की महिलाएं इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकती हैं।
  • वित्तीय सहायता की राशि लाभार्थी महिलाओं के बैंक खाते में वितरित की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ लेने से महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।
  • मुख्यमंत्री द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को सशक्त बनाना और उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है।
  • होली व रंगपंचमी के बाद 25 मार्च से अप्रैल 2023 के अंत तक फॉर्म भरे जाएंगे।
  • हर लाडली बहन योजना के लाभार्थी के खाते में हर महीने की 10 तारीख को पैसा पहुंच जाएगा।

लाडली बहना योजना का उद्देश्य

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य में निम्न वर्ग और गरीब परिवारों की महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने के मुख्य उद्देश्य के साथ एमपी लाडली बहना योजना शुरू की। मध्य प्रदेश लाडली बहना योजना के तहत, राज्य सरकार राज्य में बहनों को 1000 रुपये प्रति माह प्रदान करेगी। जो 12000 रुपये सालाना होगा। लाभार्थी महिलाओं के बैंक खाते में आर्थिक सहायता की राशि का वितरण किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से राज्य की महिलाओं को आर्थिक सहायता प्राप्त कर सशक्त किया जाएगा। ताकि महिलाओं को समाज में बराबरी का अधिकार मिल सके।

एमपी लाडली बहना योजना का लाभ एक करोड़ महिलाओं को मिलेगा

मध्य प्रदेश सरकार की एमपी लाड़ली बहना योजना में प्रदेश की करीब एक करोड़ महिलाओं को लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि इस योजना में 5 साल में 60 हजार करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इससे स्पष्ट होता है कि मध्य प्रदेश लाडली बहना योजना के तहत लाभार्थी महिलाओं को सरकार की ओर से सालाना 12000/- रुपये दिए जाएंगे। इन आँकड़ों से अंदाजा लगाया जा सकता है कि लाभार्थी बहनों को मध्यप्रदेश सरकार द्वारा प्रतिमाह 1000/- रुपये का भुगतान किया जायेगा। एमपी  लाडली बहना योजना के माध्यम से राज्य के निम्न एवं मध्यम वर्ग की एक करोड़ गरीब महिलाओं के बैंक खातों में प्रतिमाह 1000/- रुपये की आर्थिक सहायता दी जायेगी. ताकि राज्य में बहनों को सशक्त बनाया जा सके।

एमपी लाड़ली बहना योजना के लिए आवश्यक पात्रता और दस्तावेज़ 

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य में महिलाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए एमपी लाडली बहना योजना शुरू करने की घोषणा की है। फिलहाल सरकार ने इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेजों के संबंध में कोई जानकारी सार्वजनिक नहीं की है। जैसे ही सरकार से आवश्यक दस्तावेजों के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध होती है। तो हम आपको इस लेख के माध्यम से जानकारी देने जा रहे हैं। लेकिन अब हमें इस योजना के लागू होने का इंतजार करना होगा। उसके बाद ही दस्तावेज से जुड़ी कोई भी जानकारी आपको उपलब्ध कराई जाएगी।

  • इस योजना का लाभ केवल मध्य प्रदेश की बहनें ही उठा सकती हैं।
  • एमपी राज्य की 23 से 60 वर्ष की आयु की महिलाएं इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।
  • मध्य प्रदेश में गरीब और निम्न मध्यम वर्गीय परिवारों की महिलाएं लाड़ली बहना योजना की पात्र होंगी।
  • इस योजने के तहत बहन के परिवार की वार्षिक आय 2 लाख 50 हजार रुपये से कम हो।
  • आपके पास 5 एकड़ से कम जमीन और 2.5 लाख रुपये से कम आय होनी चाहिए।
  • मध्य प्रदेश सरकार के अनुसार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग और सामान्य वर्ग की सभी बहनें इस योजना के लिए पात्र मानी जाएंगी।
  • परिवार की समग्र आईडी और स्वयं की समग्र आईडी
  • आधार कार्ड (बैंक खाते से जुड़ा होना चाहिए)
  • समग्र ई-केवाईसी
  • लाभार्थी की जानकारी समग्र और आधार में समान होनी चाहिए।
  • एमपी लाडली बहन योजना योजना के लिए आय प्रमाण पत्र और अधिवास प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं है।
  • 25 मार्च 2023 से पहले सभी अपडेट कार्य (आधार/समग्र/ई-केवाईसी) करवा लें।

एमपी लाडली बहना योजनान्तर्गत अपात्रता 

योजनान्तर्गत अपात्रता :-  

  • जिनकी संयुक्त वार्षिक पारिवारिक आय 2.5 लाख से अधिक हो, जिनके परिवार के सदस्य आयकर दाता हों।  
  • जिनके परिवार का कोई भी सदस्य भारत सरकार या राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग, उद्यम बोर्ड, स्थानीय निकाय में नियमित स्थायी श्रम अनुबंध कार्यकर्ता के रूप में कार्यरत है या सेवानिवृत्ति पर पेंशन प्राप्त कर रहा है, लेकिन महान सेवा कार्यकर्ता और आउटसोर्सिंग एजेंसियों द्वारा नियोजित कर्मचारी अपात्र नहीं होंगे  
  • जो स्वयं भारत सरकार/राज्य सरकार की किसी योजना के अंतर्गत रू 1000/- या अधिक प्राप्त कर रही  हो।जिनके परिवार के सदस्य मौजूदा, या पूर्व संसद सदस्य, विधायक हो 
  • जिनके परिवार के सदस्य भारत सरकार या राज्य सरकार के अध्यक्ष/उपाध्यक्ष/बोर्ड/निगम/मंडल/निदेशक हैं। 
  • जिनके परिवार के सदस्य स्थानीय निकायों में निर्वाचित प्रतिनिधि (पंच और उपसरपंच को छोड़कर) हैं। जिनके परिवार के सदस्य संयुक्त रूप से 5 एकड़ से अधिक कृषि भूमि के मालिक हों। (यहां परिवार का अर्थ पति, पत्नी और आश्रित बच्चे हैं) 
  • जिनके चार पहिया वाहन (ट्रैक्टर सहित) परिवार के सदस्यों के नाम पर पंजीकृत हैं।

मध्य प्रदेश लाड़ली बहना योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

  • अगर आप मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं और इसका लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि आवेदन 25 मार्च से शुरू होगा। इस योजना के तहत चयनित लाभार्थियों को 10 जून से हर महीने की 10 तारीख को उनके बैंक खाते में 1000 रुपये मिलेंगे।
  • इसकी घोषणा हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की थी। सरकार ने इस योजना के तहत आवेदन भरने के लिए शिविर आयोजित करने की घोषणा की है। मध्य प्रदेश लाडली बहना योजना के तहत प्रत्येक पात्र लाभार्थी अपने पंचायत के शिविर में आवेदन कर सकता है।
  • ग्राम पंचायत कार्यालय में जाकर वहां के अधिकारियों से बात करें।
  • इस योजना का पंजीकरण करने के लिए अधिकारियों को आवश्यक विवरण और दस्तावेज प्रदान करें।
  • ग्राम पंचायत अधिकारियों की मदद से आधार ई-केवाईसी प्रक्रिया को पूरा करें।
  • एक बार आपका पंजीकरण पूरा हो जाने के बाद, आपको अधिकारियों द्वारा सूचित किया जाएगा।
  • एमपी लाडली बहना योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए कोई आधिकारिक वेबसाइट या विकल्प नहीं है। जब भी इस बारे में कोई अपडेट आएगा तो सबसे पहले आपको हमारी वेबसाइट पर इसकी सारी जानकारी मिल जाएगी।
  • ऑनलाइन आवेदन के संबंध में जो भी कदम उठाए जाएंगे, हम आपको सभी चरणों के साथ बताएंगे। जिसे फॉलो कर आप एमपी लाडली बहना योजना के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे।

अधिकारिक वेबसाईट -------------
एमपी लाडली बहना योजना दिशानेर्देश PDF ------------
केंद्र सरकारी योजना Click Here
मध्य प्रदेश सरकारी योजना Click Here 

निष्कर्ष 

मध्य प्रदेश में जल्द ही लाडली बहना योजना शुरू होने जा रही है। इसकी घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की है। यह योजना 5 साल के लिए पूरे राज्य में लागू की जाएगी। इस योजना के तहत, राज्य सरकार राज्य की गरीब और मध्यम वर्ग की महिलाओं को प्रति माह 1000 रुपये हस्तांतरित करेगी। इस प्रकार इस योजना से प्रत्येक लाभार्थी महिला को प्रति वर्ष 12000 रुपये मिलेंगे। इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य महिलाओं को सशक्त बनाना और उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है। राज्य सरकार को पूरे 5 साल में इस योजना पर करीब 60 हजार करोड़ रुपए खर्च करने होंगे। इस योजना के शुरू होने के बाद, राज्य सरकार पर रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। हर साल 12 हजार करोड़ रु. बताया जा रहा है कि इस योजना से राज्य की करीब एक करोड़ महिलाओं को लाभ होगा।

लाडली बहना योजना 2023 FAQ 

Q. एमपी लाडली बहना योजना 2023 क्या है? 

सरकार द्वारा किसानों के साथ-साथ अन्य वर्ग के लोगों के लिए भी तरह-तरह की योजनाएं लागू की जा रही हैं और नई-नई योजनाओं की भी घोषणा की जा रही है। हाल ही में मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने राज्य में महिलाओं के लिए लाड़ली बहना योजना शुरू करने की घोषणा की है। यह योजना जल्द ही मध्य प्रदेश में लागू की जाएगी। इस योजना के तहत राज्य में महिलाओं को प्रति वर्ष 12000 रुपये मिलेंगे। यह घोषणा राज्य के मुख्यमंत्री ने नर्मदा जयंती के अवसर पर की। उन्होंने कहा कि मैं प्रदेश में लाडली बहना योजना शुरू करने की घोषणा करता हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह राज्य सरकार ने लाड़ली बेटियों के लिए लाडली लक्ष्मी योजना शुरू की है, उसी तरह मैं अपनी बहनों के लिए लाड़ली बहना योजना शुरू कर रहा हूं.

Q. लाडली बहना योजना के तहत महिलाओं को कितनी धनराशी मिलेगी?

मध्य प्रदेश में जल्द ही लाडली बहना योजना शुरू की जाएगी। इसके लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है. यह योजना 5 साल के लिए पूरे राज्य में लागू की जाएगी। इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा राज्य की गरीब और मध्यम वर्ग की महिलाओं को उनके खातों में प्रति माह 1000 रुपये हस्तांतरित किए जाएंगे। इस प्रकार प्रत्येक लाभार्थी महिला को इस योजना से पूरे वर्ष में 12000 रुपये मिलेंगे।

Q. लाडली बहना योजना के तहत आवेदन कैसे करे?

इसकी घोषणा हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की थी। सरकार ने इस योजना के तहत आवेदन भरने के लिए शिविर आयोजित करने की घोषणा की है। मध्य प्रदेश लाडली बहना योजना के तहत प्रत्येक पात्र लाभार्थी अपने पंचायत के शिविर में आवेदन कर सकता है। और साथ में कैंप/ ग्राम/ पंचायत/ वार्ड कार्यालय/ आंगनवाड़ी केन्द्रों के माध्यम से आवेदन किया जा सकता है। आगे इस योजना के लिए अधिकृत वेबसाईट शुरू की जाएगी।

Q. एमपी लाडली बहना योजना का उद्देश्य क्या है?

राज्य में महिला सशक्तिकरण की दिशा में सरकार द्वारा महिलाओं के आर्थिक स्वावलंबन, उनके स्वास्थ्य एवं पोषण स्तर में निरंतर सुधार तथा पारिवारिक निर्णयों में उनकी भूमिका को सुदृढ़ करने की दिशा में मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना प्रारंभ की जा रही है।


एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने